नई दिल्ली
अगर आप भी ऑनलाइन गेमिंग खेलते हैं तो समझ लीजिए ऑनलाइन गेमिंग कंपनियों के दिन अब लद गए हैं। जीएसटी इंटेलिजेंस महानिदेशालय (डीजीजीआई) की नजरें ऑनलाइन गेमिंग कंपनियों पर है। निदेशालय ने ऑनलाइन रियल मनी गेमिंग (आरएमजी) कंपनियों को 55,000 करोड़ रुपये के जीएसटी बकाए को लेकर एक दर्जन प्री-शोकॉज नोटिस भेजे हैं।

फैंटेसी स्पोर्ट्स प्लेटफॉर्म ड्रीम 11 को 25,000 करोड़ रुपये से अधिक का जीएसटी नोटिस जारी किया गया है, जो देश में दिया गया अब तक का सबसे बड़ा इनडायरेक्ट टैक्स नोटिस होगा। ष्ठत्रत्रढ्ढ की तरफ से कुल गेमिंग आय पर त्रस्ञ्ज का भुगतान न करने के लिए नोटिस जारी किए जा रहे हैं।

 इसलिए जिन मामलों की जांच हो चुकी है, उनमें नोटिस को स्पष्ट करने की जरूरत है। साथ ही यह भी स्पष्ट करने की जरूर है कि उनमें शुरुआती दांव को आधार बनाया जाएगा या नहीं। इंडस्ट्री से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक, आगामी हफ्तों में गेमिंग कंपनियों को 1 लाख करोड़ रुपये तक के नोटिस पहुंच सकते हैं। बता दें कि यह नोटिस सरकार ने कसीनो और ऑनलाइन गेमिंग पर 28त्न जीएसटी लगाने के निर्णय के बाद भेजे हैं। रिपोर्ट के अनुसार, जिन अन्य कंपनियों को नोटिस मिला है उनमें हेड डिजिटल वर्क्स और प्ले गेम्स 24*7 शामिल हैं।


स्पॉटिफाई ने नया फीचर जैम किया लॉन्च, एक साथ सॉन्ग सुन सकेंगे ग्रुप के सभी मेंबर्स

सैन फ्रांसिस्को
 म्यूजिक स्ट्रीमिंग जायंट स्पॉटिफाई ने ग्लोबल लेवल पर एक नया सोशल फीचर जैम लॉन्च किया। इस फीचर के तहत ग्रुप के मेंबर्स एक ही समय पर एक साथ सॉन्ग सुन सकेंगे। स्पॉटिफाई ने कहा, जैम प्रीमियम के साथ सब्सक्राइबर्स शेयर्ड क्यू के जरिए दूसरों को इनवाइट करने में सक्षम होंगे और सुनने वाले सभी लोग म्यूजिक का आनंद ले सकेंगे।

प्रीमियम लिस्नर्स 'जैमÓ फीचर का इस्तेमाल कहीं भी कर सकते हैं और स्पॉटिफाई पर कोई भी इसमें शामिल हो सकता है। यूजर्स को बस अपने स्क्वाड को इनवाइट करना होगा और जैम उन्हें क्यू में जोडऩे के लिए परफेक्ट सॉन्ग को ढूंढने में आपकी मदद करेगा। यूजर्स के पास यह देखने की क्षमता भी होगी कि किसने कौन सा ट्रैक जोड़ा है।

स्पॉटिफाई ने कहा, एक बार जब आप 'जैम’ शुरू करते हैं, तो आप दोस्तों या परिवार के फ्री या प्रीमियम यूजर्स के ग्रुप को इनवाइट कर सकते हैं, ताकि वे एक्सपीरियंस शेयर कर सकें। प्रीमियम लिस्नर्स कहीं से भी शामिल हो सकते हैं, चाहे वे एक ही कमरे में हों या दुनिया भर में कहीं भी।

इसके अलावा, कंपनी ने कहा कि 'जैम’ में हर कोई अपने डिवाइस से क्यू में गाने जोड़ सकता है और देख सकता है कि किसने कौन सा गाना जोड़ा है और रेकमेंडेशन्स प्राप्त कर सकता है। होस्ट के पास यह निर्धारित करने की क्षमता भी है कि जैम में कौन है, ट्रैक का ऑर्डर बदल सकता है, या उस गाने को हटा सकता है जो वाइब में फिट नहीं बैठता है।

इस बीच, स्पॉटिफाई ने शोकेस नामक एक नया टूल लॉन्च किया है जो कलाकारों को प्लेटफॉर्म के होम फीड पर लिस्नर्स के बीच अपने म्यूजिक को बढ़ावा देने के लिए भुगतान करने की अनुमति देगा। शोकेस के साथ, कलाकार अपने गाने या एल्बम को मोबाइल बैनर के रूप में प्रदर्शित कर सकते हैं, जो लॉन्च के समय 30 मार्केट के एक स्पेसिफिक टाइप के लिस्नर को टारगेट करेगा। बैनर में संकेत दिया जाएगा कि रेकमेंडेशन स्पॉन्सर्ड है।

 

Source : Agency