नई दिल्ली
भारतीय राष्ट्रीय राइफल संघ (एनआरएआई) ने  आगामी एशियाई निशानेबाजी चैंपियनशिप के लिए टीम की घोषणा की जिससे देश के निशानेबाजों को 2024 पेरिस ओलंपिक के लिए अपना कोटा स्थान सुरक्षित करने का एक और मौका मिलेगा।

इस प्रमुख महाद्वीपीय टूर्नामेंट का आयोजन 22 अक्टूबर से दो नवंबर तक दक्षिण कोरिया के चांगवोन में होगा। इस आयोजन में पेरिस के लिए 24 कोटा स्थान दांव पर लगे होंगे, जिसमें ओलंपिक में शामिल 12 स्पर्धाओं में से प्रत्येक में दो कोटा होगा।

मनु भाकर, दिव्यांश सिंह पंवार, ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर, अखिल श्योराण, रिदम सांगवान, ईशा सिंह, आदर्श सिंह, काइनान चेनाई, गनीमत सेखों जैसे कुछ निशानेबाजों के लिए यह पेरिस ओलंपिक के लिए कोटा सुरक्षित करने का एक और अवसर होगा। ये निशानेबाज हाल ही में बाकू (अजरबैजान) विश्व चैंपियनशिप में देश के लिए कोटा सुनिश्चित करने में असफल रहे थे।

भारत ने पेरिस ओलंपिक के लिए अब तक सात कोटा सुनिश्चित किये है। इसमें से राजेश्वरी कुमारी (महिला ट्रैप), मेहुली घोष (महिलाओं की 10 मीटर एयर राइफल), अखिल श्योराण (50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन) और सिफ्ट कौर सामरा (महिला 50 मीटर थ्री पोजीशन) ने विश्व चैम्पियनशिप में ओलंपिक कोटा हासिल किया।

इससे पहले भवनीश मेंदिरत्ता (पुरुष ट्रैप), गत विश्व चैंपियन रुद्रांक्ष बालासाहेब पाटिल (पुरुष 10 मीटर एयर राइफल), स्वप्निल कुसाले (पुरुष 50 मीटर राइफल थ्री पोजीशन) भी देश के लिए ओलंपिक (2024) कोटा हासिल कर चुके है।

 

श्रीलंका से शिकस्त के बाद अफगानिस्तान के खिलाफ बांग्लादेश की नजरें जीत दर्ज करने पर

लाहौर
एशिया कप एकदिवसीय टूर्नामेंट के अपने पहले मुकाबले में लचर बल्लेबाजी के कारण शिकस्त का सामना करने वाली बांग्लादेश की टीम जब अफगानिस्तान के खिलाफ रविवार को लीग चरण के अपने दूसरे मैच के लिए अफगानिस्तान के खिलाफ यहां मैदान में उतरेगी तो उसकी कोशिश जीत दर्ज कर सुपर फोर चरण की दौड़ में बने रहने की होगी। इस मैच में हार से बांग्लादेश पर टूर्नामेंट से बाहर होने का खतरा रहेगा।

श्रीलंका के खिलाफ टीम पालेकल के मैदान पर महज 164 रन पर आउट हो गयी। नजमुल हसन शंटो (122 गेंद में 89 रन) के अलावा कोई अन्य बल्लेबाज योगदान देने में विफल रहा।

कप्तान शाकिब अल हसन से टीम को बल्ले से योगदान की उम्मीदें थी लेकिन वह टीम के खिलाड़ियों को प्रेरित करने में नाकाम रहे। अफगानिस्तान के खिलाफ उन्हें हालांकि मध्यक्रम में अपनी भूमिका को अच्छे से निभानी होगी। इस विभाग में वह अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज मुशफिकुर रहीम से जिम्मेदारी साझा करने की उम्मीद करेंगे।

युवा सलामी बल्लेबाजों मोहम्मद नईम और तंजीद हसन को टीम को बेहतर शुरुआत दिलानी होगी।

गेंदबाजी की बात करें तो पिछले मैच में तस्कीन अहमद प्रभावशाली लगे थे लेकिन शरीफुल इस्लाम की गेंदों में पैनापन की कमी दिखी थी।

शाकिब ने हालांकि गेंदबाजी में प्रभावित करते हुए अपने 10 ओवर में 29 रन देकर दो विकेट लिये थे। वह इस लय को अफगानिस्तान के खिलाफ जारी रखना चाहेंगे।

बल्लेबाजों ने स्कोरबोर्ड पर बड़ा स्कोर खड़ा नहीं किया जिससे मुस्तफिजुर रहमान, मेहदी हसन मेराज और मेहदी हसन जैसे गेंदबाजों के पास श्रीलंका के बल्लेबाजों पर दबाव बनाने का मौका नहीं था।

अफगानिस्तान की टीम का यह टूर्नामेंट में पहला मैच है। टीम को इससे पहले पाकिस्तान के खिलाफ एकदिवसीय श्रृंखला में 0-3 से शिकस्त मिली थी। टीम का हौसला हालांकि इस बात से बढ़ा होगा कि उन्होंने इस साल जून-जुलाई में बांग्लादेश को 2-1 से हराया था।

बांग्लादेश ने एकदिवसीय श्रृंखला में हार का बदला टी20 श्रृंखला में अफगानिस्तान को 0-2 से हराकर लिया था।

रहमानुल्लाह गुरबाज पिछले कुछ समय से वनडे क्रिकेट में शानदार लय में हैं। उन्होंने हाल ही में खेली गई एकदिवसीय श्रृंखला में पाकिस्तान और बांग्लादेश दोनों के खिलाफ शतक लगाए है।

इसके अलावा ऑफ स्पिनर मुजीब उर रहमान अफगानिस्तान के लिए लगातार विकेट लेने वाले गेंदबाज रहे हैं। वह इस मैच में टीम के लिए घातक हथियार साबित हो सकते हैं।

हाल ही में कप्तानी गंवाने के बाद अफगानिस्तान के स्टार लेग स्पिनर राशिद खान भी एशिया कप में खुद को साबित करने के लिए उत्सुक होंगे। वह गेंद के साथ बल्लेबाजी के निचले क्रम में तेजी से रन बनाने की कुव्वत रखते है।

अफगानिस्तान के कप्तान हशमतुल्लाह शाहिदी भी बांग्लादेश के खिलाफ इस मैच में अपनी बल्लेबाजी को साबित करना चाहेंगे।

जहां शाहिदी, इब्राहिम जादरान, गुरबाज, नजीबुल्लाह जादरान और अनुभवी मोहम्मद नबी बल्लेबाजी विभाग में अफगानिस्तान के लिए महत्वपूर्ण होंगे, वहीं गेंदबाजी इकाई राशिद, फजलहक फारूकी, मुजीब और नूर अहमद के कंधों पर होगी।

टीमें

बांग्लादेश: अनामुल हक, मोहम्मद नईम, मुशफिकुर रहीम, नजमुल हसन शंटो, तंजीद हसन, तौहीद हृदय, शाकिब अल हसन, अफीफ हुसैन, महेदी हसन, मेहदी हसन मिराज, शमीम हुसैन, हसन महमूद, मुस्तफिजुर रहमान, नसुम अहमद, शरीफुल इस्लाम, तंजीम हसन साकिब, तस्कीन अहमद।

अफगानिस्तान: हशमतुल्लाह शाहिदी (कप्तान), इब्राहिम जादरान, इकराम अलीखिल, नजीबुल्लाह जादरान, रहमानुल्लाह गुरबाज, रियाज हसन, गुलबदीन नायब, करीम जनत, मोहम्मद नबी, रहमत शाह, राशिद खान, शराफुद्दीन अशरफ, अब्दुल रहमान, फजलहक फारूकी, मोहम्मद सलीम, मुजीब उर रहमान, नूर अहमद।

मैच दोपहर तीन बजे से शुरू होगा।

 

Source : Agency