कोण्डागांव

गंभीर कुपोषित बच्चों के उपचार एवं कुपोषण की रोकथाम हेतु राज्य सरकार के द्वारा मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान संचालित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के अंतर्गत आंगनबाड़ी केन्द्रों पर लक्षित बच्चों एवं माताओं को पूरक पोषण आहार सहित गर्म भोजन प्रदान किया जा रहा है। इसके साथ ही अंडे एवं रागी का हलवा भी प्रदान किये जा रहे हैं। वहीं कुपोषित बच्चों में कुपोषण की रोकथाम एवं उपचार के लिए पोषण पुनर्वास केन्द्र चलाया जा रहा है। इस दिशा में जिला अस्पताल एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पोषण पुनर्वास केन्द्र की स्थापना की गयी है।

कोण्डागांव जिले में कुल 5 एनआरसी संचालित किया जा रहा है। अप्रैल 2021 से मार्च 2022 तक जिले भर से 519 कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराया गया था जिसमें से 514 बच्चों को सुपोषित कर घर भेज दिया गया और 5 बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के लिए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया था। इस दौरान बीओपी लगभग 40 प्रतिशत रहा। वहीं अप्रैल 2022 से अब तक 428 कुपोषित बच्चों को एनआरसी में भर्ती कराया गया था जिसमें से 418 बच्चों को सुपोषित कर घर भेज दिया गया और 7 बच्चों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के लिए जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया था। इस दौरान बीओपी लगभग 67 प्रतिशत रहा। कलेक्टर श्री  दीपक सोनी के मार्गदर्शन में जिले के पोषण पुनर्वास केन्द्रों पर कुपोषित बच्चों को भर्ती कराये जाने हेतु व्यापक पहल किया जा रहा है। इस दिशा में हरेक पोषण पुनर्वास केन्द्रों की स्थान की सुलभता के अनुसार प्रत्येक पखवाड़ा हेतु 15 बच्चों का रोस्टर तैयार किया गया है। जिसमें सर्वप्रथम गंभीर कुपोषित बच्चों के उपचार को प्राथमिकता दी जा रही है।

Source : Agency