भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जनवरी में होने वाले प्रवासी भारतीय सम्मेलन और ग्लोबल इंवेस्टर्स समिट के लिए बेंगलुरु  में उद्योगपतियों के साथ संवाद कर उन्हें एमपी के संसाधनों और खूबियों के बारे में बताया। वन टू वन बैठक के दौरान उन्होेंने निवेशकों से निवेश प्रस्तावों पर चर्चा भी की है और उन्हें राज्य सरकार की ओर से दी जाने वाली सभी परमिशन जल्द दिलाने की बात कही। इस दौरान उद्योगपतियों के साथ वन टू वन बैठक के अलावा उन्होंने राउंड टेबल बैठक भी की और एमपी में संसाधनों की उपलब्धता और सरकार द्वारा दी जाने वाली रियायतों की जानकारी इन्वेस्टर्स को दी। उन्होंने कहा कि एमपी में निवेश के साथ वे युवाओं को रोजगार देने का काम भी कर सकते हैं।

सीएम चौहान ने बुधवार रात बेंगलुरु पहुंचने के बाद भी कुछ निवेशकों से मुलाकात कर चर्चा की थी। गुरुवार सुबह वे सबसे पहले वाई मधुसूदन रेड्डी निदेशक सीरो फार्मा और अनुराग अग्रवाल प्रबंध निदेशक नेचुरल रेमेडीज के साथ बैठक में शामिल हुए। इसके बाद अप्रमेय राधाकृष्ण सह-संस्थापक और सीईओ कू सॉफ्टवेयर, संजीव मुखीजा प्रबंध निदेशक गोल्डन सीम्स टेक्सटाइल्स, मुरली यादमा प्रबंध निदेशक एमवाईके लाटिक्रेते इंडिया, तरुण बजाज निदेशक ई-इन्फो चिप्स, के. उल्लास कामत निदेशक वंडरला हॉलिडे लिमिटेड, गौरव शर्मा निदेशक आईबीएम, नागराज एम एमडी विस्ट्रॉन इन्फोकॉम मैन्युफैक्चरिंग (इंडिया), सुरेश नायर, राष्ट्रीय प्रमुख, एयर एशिया एयरलाइंस, सीएस राव अध्यक्ष और सह-संस्थापक क्योइजेन वायरलेस सॉल्यूशंस के साथ वन टू वन बैठक की। इसके पश्चात मुख्यमंत्री चौहान कीआईटी-आईटीईएस-बीपीओ-ईएसडीएम-आईटी पार्क डेवलपर्स-स्टार्टअप क्षेत्र की कंपनियों के साथ सीईओ राउंड टेबल बैठक हुई जिसमें निवेश के लिए उपलब्ध भूमि और वातावरण की जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री चौहान  कृष गोपालकृष्णन सह-संस्थापक (इन्फोसिस), एक्सिलर वेंचर्स, पीपीके परमासिवम प्रबंध निदेशक एससीएम समूह के साथ भी मीटिंग में शामिल हुए। इसके बाद मध्य प्रदेश में निवेश के अवसर पर संवाद सत्र में भी उद्योगपतियों को संबोधित किया। वॉल्वो ग्रुप इंडिया के प्रेसिडेंट और एमडी कमल बाली समीर गुप्ता प्रबंध संचालक जैक्सन समूह,  टेक्सटाइल और परिधान निर्माण कंपनियों के साथ सीईओ राउंड टेबल बैठक भी सीएम चौहान ने बेंगलुरु से रवाना होने के पहले की।


सीएम ने बताया... निवेश के लिए मप्र ही क्यों आना चाहिए
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इंवेस्टर्स से मिलने के लिए वे इसलिए बेंगलुरु पहुंचे हैं ताकि वे  बता सकें कि समिट का इंतजार न करें बल्कि आज पॉलिसी देखें, डिस्कशन कर प्रस्ताव तैयार करें और जब समिट हो तो वर्कआउट कर उस पर एक्शन लेने का काम करें। उन्होंने निवेशकों से कहा कि वे मध्यप्रदेश में निवेश क्यों करें..... यह भी वे बता रहे हैं। भूमि, पर्यावरण, पानी, बिजली का संकट नहीं है। हमने उद्योगों की आवश्यकता को देखते हुए आईटीआई के टेÑड तय किए हैं, जिससे टेÑंड युवाओं की कमी का सामना निवेशकों को नहीं करना होगा।

Source : Agency