नई दिल्ली 

कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी इन दिनों 'भारत जोड़ो यात्रा' पर हैं। इस यात्रा में आज उनकी बहन और पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और उनके पति रॉबर्ट वाड्रा भी शामिल हुए। दोनों को पहली बार भारत जोड़ो यात्रा का हिस्सा बनते हुए देखा गया है। उनके बेटे रेहान वाड्रा भी यात्रा में शामिल हुए हैं। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा आज राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की चिंता को बढ़ा सकती है। प्रियंका गांधी के साथ सचिन पायलट को भी इस यात्रा का हिस्सा बनते हुए देखा गया। आपको बता दें कि पहले भी ऐसी कई खबरें सामने आ चुकी हैं कि प्रियंका और राहुल राजस्थान की कमान सचिन पायलट को देने के पक्षधर हैं। इससे पहले जब सचिन पायलट और उनके खेमे के विधायकों ने बागी तेवर अपनाए थे तो प्रियंका गांधी ने ही उन्हें मनाया था।

राहुल गांधी की 'भारत जोड़ो यात्रा' मध्य प्रदेश में 380 किलोमीटर का फासला तय करने के बाद चार दिसंबर को राजस्थान में प्रवेश करेगी। पायलट पड़ोसी मध्य प्रदेश में ऐसे समय में यात्रा में शामिल हुए, जब यात्रा के राजस्थान पहुंचने से पहले इस कांग्रेस शासित राज्य में नेतृत्व में बदलाव की मांग एक फिर जोर पकड़ने लगी है। पूर्व उप मुख्यमंत्री के समर्थकों ने मुख्यमंत्री पद के लिए उनके नाम को लेकर दबाव बनाना शुरू कर दिया है।

मध्य प्रदेश में इस यात्रा के दूसरे दिन राहुल ने खंडवा जिले के बोरगांव से पैदल चलना प्रारंभ किया। यात्रा में प्रियंका के साथ उनके पति रॉबर्ट वाड्रा और बेटे रेहान भी पैदल चलते दिखाई दिए। राहुल जब पदयात्रा पर निकलते हैं तो सड़क के दोनों ओर पुलिस कर्मी उनकी सुरक्षा के लिए रस्सियों का सुरक्षा घेरा बनाकर साथ चलते हैं। प्रियंका के यात्रा में शामिल होने के बाद कांग्रेस के उत्साहित कार्यकर्ता भाई-बहन के समर्थन में नारेबाजी करते हुए उनके करीब आने की बार-बार कोशिश करते दिखाई दिए। उन्हें सुरक्षित घेरे से दूर करने के लिए पुलिस कर्मियों को अतिरिक्त मशक्कत करनी पड़ी। 

बहरहाल, सूर्योदय के बाद जब बोरगांव से यात्रा ने मध्य प्रदेश में अपने दूसरे दिन में प्रवेश किया तो पहले दिन के मुकाबले भीड़ कम नजर आई, लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही इसमें लोगों और गाड़ियों का काफिला बढ़ता गया।
 

Source : Agency