वाराणसी
स्‍कूल बस में अगर आप अपने मासूमों को सुरक्षित समझते हैं तो यह खबर आपके लिए चौंकाने वाली साबित हो सकती है। वाराणसी में स्‍कूल बस में जाने वाली चार साल की मासूम के साथ बस कंडक्‍टर दो माह से अश्‍लील हरकत कर रहा था। इस बात की जानकारी होने के बाद परिजनों के होश उड़ गए।  

दो माह से अपनी मासूम बच्‍ची को डरा सहमा और पढ़ाई से अरुचि देखकर परिजनों को समझ नहीं आ रहा था कि आखिर हमेशा खुश रहने वाली चार साल की खुशी (बदला नाम) अब खुश क्‍यों नहीं है। शुरू में उनको लगा कि पढ़ाई में मन नहीं लग रहा होगा। इस बाबत परिजनों ने प्रयास कर उसके लिए नए सिरे से बातचीत और काउंसिलिंग के जरिए जो जाना वह उनके होश उड़ाने वाला साबित हुआ।

बड़ागांव थाना क्षेत्र के तरना स्थित एक निजी विद्यालय में पढ़ने वाली चार वर्षीय अबोध बालिका के साथ बस कंडक्टर के द्वारा छेड़छाड़ किये जाने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़ित बालिका के पिता ने पुलिस अधीक्षक ग्रामीण को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की मांग की है। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक ने बड़ागांव पुलिस को आरोपियों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने का आदेश दिया है, जिसके तहत स्थानीय पुलिस आरोपियों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर मामले की जांच कर रही है।

लालपुर पांडेयपुर निवासी एक चार वर्षीय छात्रा तरना स्थित एक निजी विद्यालय में एलकेजी की छात्रा है और स्कूल द्वारा संचालित बस से ही आती जाती है। बीते दो माह से बालिका काफी डरी सहमी रहने लगी और स्कूल जाने से मना करने लगी। काफी प्रयास और काउंसिलिंग के बाद पता चला कि बस का कंडक्टर स्वामीनाथ उसके साथ गंदी हरकतें करता था। यह जानकर परिजनों के होश उड़ गए।

इस बात की शिकायत स्कूल प्रबंधक, ट्रांसपोर्ट इंचार्ज सहित अन्य जिम्मेदार लोगों से करने के बाद भी कोई कार्रवाई न होने पर बालिका के पिता ने बस कंडक्टर सहित ट्रांसपोर्ट इंचार्ज विनय एवं स्कूल प्रबंधक नाम पता अज्ञात के विरुद्ध लिखित प्रार्थना पत्र देकर पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई है। पुलिस के अनुसार मामले में अभियोग पंजीकृत कर कार्रवाई की जा रही है।

Source : Agency