प्रयागराज
 
बलिया की एक युवती ने अपने वकील पति पर धर्म छिपाकर शादी करने और देवरों के साथ मिलकर गैंगरेप करने का आरोप लगाया है। पीड़िता शनिवार को हिन्दू संगठन से जुड़े लोगों के साथ शनिवार को कर्नलगंज थाने पहुंची। पुलिस ने उसकी शिकायत पर आरोपित पति समेत तीन के खिलाफ धर्म छिपाकर शादी करने, गैंगरेप और गर्भपात कराने का मुकदमा दर्ज किया है।

युवती ने कर्नलगंज थाने में जाति और धर्म छिपाकर शादी करने के आरोपित अधिवक्ता सोनू उर्फ अनुज प्रताप सिंह, उसके भाइयों मो. असलम व मो. नूर आलम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस को बताया कि नर्सिंग की ट्रेनिंग के दौरान 2021 में अनुज से उसकी दोस्ती हुई। आरोपित ने धर्म छिपाया था और उसके साथ वाराणसी दर्शन करने गया। एक साल तक शादी का झांसा देकर पीड़िता से शारीरिक संबंध बनाए। 24 फरवरी 2022 को ऑनलाइन शादी का रजिस्ट्रेशन कराया। पीड़िता के गर्भवती होने पर दवा देकर गर्भपात करा दिया। इसके बाद उसे धर्म परिवर्तन कराने के लिए जोर जबरदस्ती करने लगा। पीड़िता के विरोध करने पर बंधक बनाकर उसका शारीरिक शोषण किया। इस दौरान अनुज के दोनों भाइयों ने भी उसके साथ गलत काम किया।
 
इस मामले की जांच कर रही कर्नलगंज पुलिस को पता चला है कि युवती ने कोर्ट मैरिज की है। कुछ दिन पहले उसका पति से विवाद हुआ था। उसने कोर्ट में तलाक की अर्जी दी है। दोनों में समझौता नहीं हुआ तो कहानी बदल गई। पिछले साल इसी युवती ने अपने प्रेमी अधिवक्ता के साथ मिलकर सिविल लाइंस में प्रतापगढ़ के दीपक पाल समेत अन्य के खिलाफ लाखों रुपयों की ठगी और गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया था। 22 मई 2022 को दीपक एसआरएन से भाग निकला था। आगरा से उसकी गिरफ्तारी हुई थी।

Source : Agency