भोपाल
मध्य प्रदेश में कोरोना धीरे-धीरे पैर पसार रहा है और अब एक्टिव केस की संख्या 17657 तक पहुंच गई है। रोजाना नए मरीजों की संख्या चार हजार के पार पहुंच गई है और इसके कारण अब सरकार सख्त कदम उठाने लगी है। जेलों में मुलाकातें बंद कर दी गई हैं तो गणतंत्र दिवस के कार्यक्रमों में भी अब दसवीं तक के बच्चों को शामिल करने पर प्रतिबंधित कर दिया गया है। मध्य प्रदेश में रोजाना नए मरीजों की संख्या बढ़ रही है। बुध‌वार को नए मरीजों की संख्या 4037 तक पहुंच गई है। इस तरह एक्टिव केस 17657 हो गए हैं। इससे कोरोना संक्रमण की दर पांच फीसदी के पार 5.16 प्रतिशत पहुंच गई है। भोपाल और इंदौर शहरों में कोरोना संक्रमण सबसे ज्यादा खराब स्थिति में है। इंदौर में बुधवार को 1104 नए मरीज पहुंचे और एक्टिव केस वहां 5620 हो गए हैं तो भोपाल में नए मरीजों की संख्या 883 रही और बुधवार को एक्टिव मरीज संख्या 3187 पहुंच गई है।

जेलों में मुलाकात बंद
गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने बताया कि प्रदेश की जेलों में मुलाकातें बंद करा दी गईं हैं। अब बंदियों से ई मुलाकात या इनकमिंग कॉल से मुलाकात की व्यवस्था शुरू की गई है। सीधी मुलाकात 31 मार्च तक के लिए बंद की गई है। इसी तरह गणतंत्र दिवस कार्यक्रमों को लेकर भी सरकार ने फैसला किया है कि उनमें पहली से दसवीं तक के बच्चों को शामिल नहीं कराया जाए।

पुलिस के 227 कर्मचारी संक्रमित
गृह मंत्री ने बताया कि-पिछले 24 घंटे में 80 पुलिसकर्मी संक्रमित हुए हैं। इन्हें मिलाकर अब तक कोरोना संक्रमित पुलिस कर्मचारियों की संख्या अब 227 हो गई है। मकर संक्रांति मेलों के आयोजन की भी अनुमति नहीं दी जा रही है। भीड़ भाड़ भरे आयोजनों पर प्रतिबंध है। स्कूलों में भी कोरोना गाइड लाइन के मुताबिक भी उपस्थिति के दिशा निर्देश दिए गए हैं।

 

Source : Agency