श्रीनगर
पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की मुखिया महबूबा मुफ्ती ने कहा है कि केंद्र सरकार को कश्मीर के मसले को हल निकालना चाहिए। उन्होंने कहा कि गांधी के जिस देश के साथ रहने का फैसला आजादी के वक्त कश्मीर के लोगों ने किया था, इस समय भारत वो देश नहीं है। आज का देश गोडसे का है। भारत सरकार कश्मीर के लोगों को बंदूक के दम पर दबाना चाह रही है लेकिन वो हमें ऐसे नहीं दबा सकते।

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती ने बुधवार को बनिहाल में एक कार्यक्रम में बोलते हुए कहा, हमने 1947 में गांधी जी के भारत के साथ जाने का फैसला किया था। हम गोडसे के हिन्दुस्तान के साथ नहीं रह सकते, हमें गांधी और नेहरू का हिन्दुस्तान चाहिए। जिस हिन्दुस्तान ने हमें अनुच्छेद 370, अनुच्छेद 35ए और अपना झंडा दिया था। मैं भारत सरकार से कहना चाहती हूं कि अगर आप जम्मू-कश्मीर को अपने साथ रखना चाहते हैं, तो अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए को बहाल करें और कश्मीर के मुद्दे को हल करें। बाहुबल के बल पर आप कश्मीर को अपने पास नहीं रख सकते।

महबूबा ने कहा, बंदूक के बलबूते पर अमेरिका भी अफगानिस्तान पर राज नहीं कर सका। भारत सरकार भी डंडे, बंदूक, लाशों को दबाने के बलबूते पर कश्मीर को साथ नहीं रख सकती है। अगस्त 2019 में आर्टिकल 370 को हटाने के समय करीब एक साल तक महबूबा मुफ्ती को हिरासत में रखा गया था। जब से उनकी नजरबंदी हटी है, वो लगातार केंद्र सरकार पर हमलावर हैं।

Source : Agency